Bharat ke shiksha mantri kaun hai 2022 – भारत के शिक्षा मंत्री कौन है

Bharat ke shiksha mantri kaun hai – शिक्षा किसी भी देश की प्रगति के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यह शिक्षक का दर्जा समाज के हर तबके के लोगों के लिए समान रूप से महत्वपूर्ण है। वर्तमान में देश की शिक्षा व्यवस्था जितनी बेहतर है, देश उतनी ही तेजी से आगे बढ़ रहा है। इसलिए समय के साथ शिक्षा प्रणाली की गुणवत्ता में सुधार करना बहुत जरूरी है। और हमारे देश में इस शिक्षा प्रणाली को सुधारने के लिए हमारे पास शिक्षा मंत्रालय है। शिक्षा मंत्री इस शिक्षा मंत्रालय के प्रभारी हैं। इस लेख में हम जानेंगे कि वर्तमान में Bharat ke shiksha mantri kaun hai.

Bharat ke shiksha mantri kaun hai?

वर्तमान में भारत के शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान हैं। उन्हें 7 जून 2021 को भारत के 33वें शिक्षा मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया था। इससे पहले रमेश पोखरियाल भारत के शिक्षा मंत्री थे। उनके इस्तीफे के बाद, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने धर्मेंद्र प्रधान को शिक्षा मंत्री नियुक्त किया। इससे पहले उन्होंने इस्पात मंत्री और पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री के रूप में भी कार्य किया। वर्तमान में वह राज्यसभा में मध्य प्रदेश के सांसद के रूप में कार्यरत हैं।

भारत के शिक्षा मंत्री की संक्षिप्त जीवनी – Bharat ke shiksha mantri Biography

धर्मेंद्र प्रधान का जन्म 26 जून 1969 को ओडिशा राज्य में हुआ था। वह भाजपा के पूर्व सांसद देवेंद्र प्रधान के बेटे हैं। जो 1999 – 2004 तक वाजपेयी सरकार में राज्य मंत्री थे। धर्मेंद्र प्रधान कॉलेज में पढ़ते हुए, वह एबीवीपी के कार्यकर्ता बन गए और बाद में तालचर कॉलेज छात्र संघ के अध्यक्ष बने। एक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) कार्यकर्ता के रूप में अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की। बाद में भाजपा में शामिल हुए और विभिन्न पदों पर काम किया।

Shiksha Mantri Dharmendra Pradhan

धर्मेंद्र प्रधान 2004 में देवगढ़ से लोकसभा के लिए चुने गए थे। वह बिहार और मध्य प्रदेश से दो बार राज्यसभा के लिए चुने गए। धर्मेंद्र प्रधान 26 मई 2014 से 6 जुलाई 2021 तक भारत के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री थे। वह भारत सरकार के इस्पात मंत्री और कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री के रूप में भी कार्यरत हैं। जुलाई 2021 में धर्मेंद्र प्रधान मोदी कैबिनेट में फेरबदल के बाद दूसरे मोदी मंत्रालय में शिक्षा मंत्री बने।

पूरा नामश्री धर्मेंद्र प्रधान
पिता का नामडॉ. देवेन्द्र प्रधान
राजनैतिक पार्टीभारतीय जनता पार्टी
ईमेल आईडी[email protected]
Websitedpradhanbjp.com

भारत के शिक्षा मंत्रियों की सूची

आजादी के बाद से भारत में कुल 33 शिक्षा मंत्री रह चुके हैं। यहां सभी शिक्षा मंत्रियों के नाम और कार्यकाल के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है।

Noशिक्षा मंत्री का नामकार्यकाल
1अबुल कलाम आज़ाद15 अगस्त 1947 – 2 फरवरी 1958
2कालू लाल श्रीमाली22 जनवरी 1958 – 31 अगस्त 1963
3हुमायूँ कबीर1 सितंबर 1963 – 21 नवंबर 1963
4एम सी छागला21 नवंबर 1963 – 13 नवंबर 1966
5फ़ख़रुद्दीन अली अहमद14 नवंबर 1966 – 13 मार्च 1967
6त्रिगुणा सेना16 मार्च 1967 – 14 फरवरी 1969
7डा. वी. के आर. वी. राव14 फरवरी 1969 – 18 मार्च 1971
8सिद्धार्थ शंकर रे18 मार्च 1975 – 20 मार्च 1972
9प्रो. एस. नूरुल हसन24 मार्च 1972 – 24 मार्च 1977
10प्रताप चंद्र चंदर26 मार्च 1977 – 28 जुलाई 1979
11करन सिंह30 जुलाई 1979 – 14 जनवरी 1980
12बी. शंकरंद14 जनवरी 1980 – 17 अक्टूबर 1980
13शंकरराव चव्हाण17 अक्टूबर 1980 – 08 अगस्त 1981
14शीला कौल10 अगस्त 1981 – 31 दिसम्बर 1984
15के.सी. पंत31 दिसम्बर 1984 – 25 सितम्बर 1985
16पी. वी. नरसिंह राव25 सितम्बर 1985 – 25 जून 1988
17पी. वी. नरसिंह राव25 दिसम्बर 1994 – 09 फरवरी 1995
18पी. वी. नरसिंह राव17 जनवरी 1996 – 16 मई 1996
19पी. शिव शंकर25 जून 1988 – 02 दिसम्बर 1989
20वी.पी. सिंह02 दिसम्बर 1989 – 10 नवम्बर 1990
21राजमंगल पांडे21 नवम्बर 1990 – 21 जून 1991
22अर्जुन सिंह23 जून 1991 – 24 दिसम्बर 1994
23अर्जुन सिंह22 मई 2004 – 22 मई 2009
24माधवराव सिंधिया10 फरवरी 1995 – 17 जनवरी 1996
25अटल बिहारी वाजपेयी16 मई 1996 – 01 जून 1996
26एस. आर. बोम्मई05 जून 1996 – 19 मार्च 1998
27मुरली मनोहर जोशी19 मार्च 1998 – 21 मई 2004
28श्री कपिल सिब्बल22 मई 2009 – 28 अक्टूबर 2012
29एम.एम. पल्लम राजू29 अक्टूबर 2012 – 25 मई 2014
30स्मृति ईरानी26 मई 2014 – 05 जुलाई 2016
31प्रकाश जावडेकर05 जुलाई 2016 – 30 मई 2019
32रमेश पोखरियाल30 मई 2019 – 07 जुलाई 2021
33धर्मेन्द्र प्रधान07 जुलाई 2021 – अब तक

भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री कौन थे?

अबुल कलाम आजाद स्वतंत्र भारत के पहले शिक्षा मंत्री थे। उनका पूरा नाम अबुल कलाम गुलाम मुहिउद्दीन अहमद बिन खैरुद्दीन अल-हुसैनी आजाद है। वह 15 अगस्त 1947 से 2 फरवरी 1958 तक भारत के शिक्षा मंत्री रहे। भारत की शिक्षा प्रणाली में उनका महत्वपूर्ण योगदान है। इसलिए उनका जन्मदिन पूरे भारत में हर साल 11 नवंबर को राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रूप में मनाया जाता है।

अबुल कलाम आज़ाद भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के एक वरिष्ठ नेता, एक इस्लामी धर्मशास्त्री और एक लेखक थे। कम उम्र में, अबुल कलाम आज़ाद ने उर्दू कविता के साथ-साथ धर्म और दर्शन पर काम किया। उन्होंने एक पत्रकार के रूप में लोकप्रियता हासिल की। ब्रिटिश शासन के दौरान कई कार्यों की आलोचना की।

अन्य लेख :-

भारत की पहली महिला शिक्षा मंत्री

स्मृति ईरानी भारत की पहली महिला शिक्षा मंत्री थीं। उन्होंने 26 मई 2014 से 5 जुलाई 2016 तक भारत के शिक्षा मंत्री के रूप में कार्य किया। वर्तमान में, वह महिला एवं बाल विकास मंत्रालय और अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालयों को संभाल रही हैं।

स्मृति ईरानी एक भारतीय राजनीतिज्ञ और पूर्व टेलीविजन अभिनेत्री हैं। उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव में अमेठी लोकसभा में राहुल गांधी को हराया था। इससे पहले, गांधी परिवार के सदस्य पिछले चार दशकों से अमेठी लोकसभा सीट जीत रहे हैं।

निष्कर्ष

आशा है कि आपको इस लेख के माध्यम से पता चल गया होगा कि Bharat ke shiksha mantri kaun hai. अगर आपको इस लेख में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। और ऐसे ही लेखों के लिए हमारी वेबसाइट को फॉलो करें।

FAQ

भारत के वर्तमान शिक्षा मंत्री का नाम क्या है?

भारत के वर्तमान शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान हैं। उन्होंने 7 जून 2021 को भारत के शिक्षा मंत्री के रूप में पदभार ग्रहण किया।

भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री कौन थे?

मौलाना अब्दुल कलाम आजाद स्वतंत्र भारत के पहले शिक्षा मंत्री थे।

भारत में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस कब मनाया जाता है?

मौलाना अब्दुल कलाम आजाद की जयंती पर हर साल 11 नवंबर को भारत में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस मनाया जाता है।

Leave a Comment

×