भारत का सबसे ऊंचा जलप्रपात कौन सा है – Bharat ka sabse Uncha Jalprapat

Bharat ka sabse uncha Jalprapat – दुनिया के किसी भी झरने को देखने में बेहद खूबसूरत है। भारत में ऐसे कई झरने हैं। भारत में दुनिया के 37 प्रमुख जलप्रपातों में से 2 जलप्रपात हैं। आज मैं आपको भारत का 10 सबसे ऊंचे जलप्रपात के बारे में बताऊंगा। इनके अलावा जलप्रपात को लेकर और भी बहुत कुछ जानकारी मिलेगा।

झरने और जलप्रपात पृथ्वी पर प्रकृति की सबसे खूबसूरत विशेषताओं में से हैं। पहाड़ी से नीचे बहने वाली जलधारा मनमोहक सौन्दर्य का निर्माण करती है। उनमें से कुछ को झरना कहा जाता है, कुछ को जलप्रपात कहा जाता है।

भारत का सबसे ऊंचा जलप्रपात कौन सा है

जलप्रपात एक धारा है जो सतह पर बहती है और एक खड़ी ढलान पर गिरती है। दुनिया में करीब 100 बड़े झरने हैं। दुनिया के सबसे खूबसूरत झरनों में संयुक्त राज्य अमेरिका में सेंट लॉरेंस नदी पर नियाग्रा फॉल्स।  और दक्षिण अफ्रीका में ज़ाम्बेज़ी नदी पर विक्टोरिया फॉल्स हैं।

भारत का सबसे ऊंचा जलप्रपात कौन सा है?

कुंचिकल जलप्रपात भारत का सबसे ऊंचा जलप्रपात हैं। इसकी ऊंचाई 455 मीटर है और यह कर्नाटक में वरही नदी पर स्थित है। पूर्व में ‘योग’ जलप्रपात को सबसे ऊंचा जलप्रपात माना जाता था। वर्तमान में ‘योग’ जलप्रपात ऊंचाई के मामले में नौवें स्थान पर है।

शिमोगा जिले में मणि बांध के निर्माण के बाद से बारिश के पानी का बहाव धीमा हो गया है। केवल बरसात के मौसम (जुलाई-सितंबर) के दौरान दिखाई देता है। यह जलप्रपात प्रतिबंधित क्षेत्र के भीतर है, इसलिए गेट पास लेकार यात्रा करना आवश्यक है।

भारत का दूसरा सबसे बड़ा जलप्रपात कौन सा है?

बरेहीपानी जलप्रपात भारत का दूसरा सबसे बड़ा जलप्रपात है। इस जलप्रपात की ऊंचाई 400 मीटर है। यह जलप्रपात उड़ीसा राज्य के मयूरभंज जिले में स्थित है। इस झरने की प्राकृतिक सुंदरता यात्रियों को बहुत आकर्षित करती है। यह जलप्रपात सिमलिपाल नेशनल पार्क का हिस्सा है।  यह अपने वन्य जीवन और प्राकृतिक सुंदरता के लिए बहुत लोकप्रिय है।

भारत का 10 सबसे बड़ा जलप्रपात सूची

दुनिया में ऐसी कई चीजें हैं जो हमें हैरान कर देती हैं। जलप्रपात उनमें से एक है। आइए जानते हैं भारत का 10 सबसे बड़ा जलप्रपात कौन सा है।

1.कुंचिकल जलप्रपात – Kunchikal Falls

कुंचिकल जलप्रपात

वाराही नदी द्वारा निर्मित, कुंचिकल जलप्रपात 455 मीटर लंबा है। कुंचिकल जलप्रपात भारत का सबसे ऊंचा जलप्रपात और दुनिया का 116वां सबसे ऊंचा जलप्रपात हैं। यह कर्नाटक राज्य की जलविद्युत परियोजनाओं में से एक का मुख्य स्रोत है। इसकी सदाबहार प्राकृतिक सुंदरता पर्यटकों को आकर्षित करती है। और हर साल बड़ी संख्या में पर्यटक इसे देखने के लिए आते हैं।

2.बरेहीपानी जलप्रपात – Barehipani Falls

बरेहीपानी जलप्रपात

बरेहीपानी जलप्रपात भारत के ओडिशा राज्य में मयूरभंज जिले के सिमलीपाल नेशनल पार्क में स्थित है। बरेहीपानी भारत का दूसरा सबसे ऊंचा जलप्रपात है। जलप्रपात की ऊंचाई 400 मीटर है जो भारत के सबसे ऊंचे जलप्रपात से महज 55 मीटर कम है। यह जलप्रपात उड़ीसा का एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण है। और प्रकृति की इस अविश्वसनीय सुंदरता को देखने के लिए साल भर बड़ी संख्या में पर्यटक यहां आते हैं।

3.नोहकलिकाइ जलप्रपात – Nohkalikai Falls

नोहकलिकाइ जलप्रपात

नोहकलिकाइ जलप्रपात मेघालय के पूर्वी खासी हिल्स जिले में स्थित है। इस जलप्रपात की ऊंचाई 340 मीटर है। इसकी गिनती दुनिया के सबसे ऊंचे झरनों में होती है। नोहकलिकाइ की यात्रा के लिए मानसून का मौसम सबसे अच्छा समय है जब झरने अपने पूर्ण रूप में होते हैं।

4.नोहस्गिथियांग जलप्रपात – Nohsngithiang Falls

नोहस्गिथियांग जलप्रपात

नोहस्गिथियांग जलप्रपात मेघालय में स्थित एक जलप्रपात है। इस जलप्रपात की ऊंचाई 315 मीटर है। बारिश के मौसम में ही यह झरना खासी पहाड़ियों की चूना पत्थर की चट्टानों की चोटी पर गिरता है। यह जलप्रपात मेघालय के पूर्वी खासी हिल्स जिले के मावसई गांव में स्थित है।

5.दुधसागर जलप्रपात – Dudhsagar Falls

दुधसागर जलप्रपात

दूधसागर जलप्रपात निश्चित रूप से आप में से किसी के लिए अज्ञात शब्द नहीं है। गोवा और कर्नाटक की सीमा पर स्थित है यह जलप्रपात इस जल प्रपात की ऊँचाई 310 मीटर है। दूर से देखने पर ऐसा प्रतीत होता है कि दूध पहाड़ी से गिर रहा है। जिससे इस जलप्रपात को ‘दूध का समुद्र’ कहा जाता है।

6.काइनरेम जलप्रपात – Kynrem Falls

काइनरेम जलप्रपात

मेघालय के पूर्वी खासी हिल्स जिले में चेरापूंजी के पास स्थित है काइनरेम जलप्रपात। भारत में छठा सबसे ऊंचा जलप्रपात है। यह जलप्रपात चेरापूंजी में घूमने के लिए लोकप्रिय स्थानों में से एक है। इस जलप्रपात की ऊंचाई 305 मीटर (1001 फीट) है। काइनरेम जलप्रपात मेघालय के सबसे ऊँचे झरनों में से एक है।  जो एक पहाड़ी की चोटी से तीन स्तरों में गिरता है।

7. मीनमुट्टी जलप्रपात – Meenmutty Falls

मीनमुट्टी जलप्रपात

मीनमुट्टी जलप्रपात केरल का दूसरा सबसे ऊंचा जलप्रपात है। मीनमुट्टी जलप्रपात भारत के केरल राज्य में वायनाड जिले में स्थित है। यह तीन-स्तरीय जलप्रपात है जिसकी ऊँचाई 300 मीटर है। मानसून के महीनों के दौरान पानी की धाराएं अपनी प्रचंड शक्ति प्राप्त करती हैं।

8. तलैयार जलप्रपात – Thalaiyar Falls

तलैयार जलप्रपात

तलैयार जलप्रपात तमिलनाडु राज्य का सबसे ऊँचा जलप्रपात है। इस झरने की ऊंचाई 297 मीटर (974 फीट) है। तलैयार जलप्रपात की यात्रा का सबसे अच्छा समय सर्दियों के दौरान और वसंत के शुरुआती महीनों के दौरान होता है। गर्मी मौसम के समय इस जलप्रपात की पानी बहुत कम हो जाती है। जुलाई और सितंबर की शुरुआत के बीच जलप्रपात अपने सबसे अच्छे रूप में होता है।

9. बरकाना जलप्रपात – Barkana Falls

बरकाना जलप्रपात

बरकाना जलप्रपात कर्नाटक के शिमोगा जिले के अगुम्बे गांव के पास स्थित है। यह जलप्रपात बालेहल्ली वन क्षेत्र में स्थित एक सुंदर जलप्रपात है। यह कर्नाटक में प्राकृतिक अजूबों के सबसे आकर्षक स्थलों में से एक है। बरकाना जलप्रपात की ऊंचाई 259 मीटर (850 फीट) है। यह जलप्रपात भारत का 9वां सबसे ऊंचा जलप्रपात है। बरकाना जलप्रपात कर्नाटक में महत्वपूर्ण जलविद्युत परियोजनाओं में से एक का स्रोत है।

10. जोग जलप्रपात – Jog Falls

जोग जलप्रपात

जोग जलप्रपात कर्नाटक के शिमोगा जिले में स्थित है। इस जलप्रपात को गेरुसोपे जलप्रपात के नामों से भी जाना जाता है। जोग जलप्रपात की ऊंचाई 253 मीटर (830 फीट) है।

अवश्य पढ़े :

India’s top 10 waterfalls

Conclusion

आशा रखता हूं यह आर्टिकल पढ़ने के बाद आपको पता चल गया होगा भारत का सबसे बड़ा जलप्रपात कौन सा है। यहां पर आपको भारत का 10 सबसे बड़े जलप्रपात के बारे में पता चला है। अगर आपको हमारा ये लेख पसंद आता है तो आप अपने फ्रेंड्स के साथ जरूर शेयर कीजिए। अगर आपका कोई सुझाव हो तो हमें कमेंट करके बता सकते हैं।

भारत का सबसे बड़ा जलप्रपात का सूची बनाने के समय Wikipedia से कुछ डाटा लिया गया हो। अगर आपको लगता है इनमें से कुछ भी गलत है तो आप हमें ईमेल करके बता सकते हो। आप हमें Contact Us पेज से जगह ईमेल कर सकते हैं।

Leave a Comment

×